जीवन में सुख-समृद्वि चाहिए तो अपनाइए ये उपाय

0
101

दिवाली के पर्व पर मां लक्ष्मी की आराधना के साथ सुख-समृद्वि के लिए कई तरह के उपाय भी किए जाते हैं। इनमें प्रमुख है श्रीयंत्र तथा दक्षिणावर्ती शंख को घर में स्थापित कर विधि-विधान से पूजा। जो लोग भौतिक सुख-समृद्वि के कारक श्रीयंत्र, दक्षिणावर्ती शंख आदि को घर में स्थापित कर पूजन करने में असमर्थ हो। उन्हें निराश होने की आवश्यकता नहीं है। आज हम आपको ऐसे कुछ सरल उपाय बताने जा रहे हैं, जिन्हें अपनाकर जीवन में सुख-समृद्वि एवं ऐश्वर्य प्राप्त किया जा सकता है तो आइए जानते है ये उपाय….

  • प्रातः उठते ही हस्तदर्शन कर दोनों हथेलियों को 2-3 बार मुंह पर फेरना चाहिए।
  • जब भी किसी कार्य से बाहर निकले तो घर पर आते समय कुछ ना कुछ साथ लेकर ही आए, खाली हाथ नहीं आए, चाहे पेड़ का पत्ता, अखबार या जीवन जरूरत की वस्तुएं लेकर आएं।
  • धन या व्यापार से संबंधित लेन-देन के खाते पर या पत्र व्यवहार करते समय हल्दी या केशर लगाएं।
  • गल्ले में, पैसे के लेन-देन से संबंधित, चैक-बुक, पासबुक, पूंजी निवेश से संबंधित कागजात इत्यादि श्रीयंत्र के साथ रखें।
  • प्रतिदिन भोजन के लिए बनी पहली रोटी गाय को खिलाएं।
  • शुक्रवार को सफेद वस्तुओं का दान करने से धन योग बनता है।
  • प्रातःकाल नाश्ता करने से पूर्व घर में साफ-सफाई अवश्य की जानी चाहिए।
  • रात को झूठे बर्तन, कचरा इत्यादि रसोई में नहीं रखें।
  • प्रतिदिन संध्या के समय घर पर पूजा नियत समय पर करें।
  • नियमित रूप से शनिवार के दिन घर की साफ-सफाई करें।
  • रुपया-पैसा धन को थूक लगाकर गिनने से दरिद्रता आती है।
  • बुधवार को धन का संचय करें। बैंक में धन जमा करवाते समय लक्ष्मी मंत्र का जप करें।
  • घर के पूजा घर में किसी भी देवी-देवता की एक से ज्यादा तस्वीर या मूर्ति न रखें।
  • जरूरतमंद व्यक्ति, गरीबों को यथाशक्ति मदद कर उन्हें दान इत्यादि समय-समय पर देते रहें।
  • पुरानी रद्दी इत्यादि शनिवार के दिन घर से बाहर निकाल देनी चाहिए।
  • शनिवार के दिन काले रंग की वस्तु, स्टील व लोहा इत्यादि उपहार में नहीं लेना चाहिए।
  • किसी कार्य के लिए जाते समय खाली पेट कभी भी घर से ना निकले। कार्य में विध्न-बाधा आते हैं, असफलता प्राप्त होती है।
  • मंगलवार, गुरूवार व शनिवार को बाल नहीं कटवाने चाहिए। इन तीन दिनों में नाखून भी नहीं काटने चाहिए।
  • स्थिर लक्ष्मी की कामना के लिए रुपया, पैसा, हीरे-जवाहरात पीला कपड़ा बिछाकर या पीले कपड़े में लपेटकर रखने चाहिए।
  • वर्ष में कम से कम एक बार परिवार के साथ तीर्थंयात्रा अवश्य करें। परिवार के साथ किसी देवी मंदिर में महीने में कम से कम एक बार अवश्य जाना चाहिए।
  • सूर्योदय के समय सूर्य को अर्ध्य तथा घर की छत पर काले तिल बिखरने से घर में सुख-समृद्वि होती है।
  • अशोक के पेड़ लगाकर उसको सींचने से धन की वृद्वि होती है। दिवाली की शाम अशोक वृक्ष के नीचे देशी घी का दीपक जलाएं। इससे व्यक्ति की मनोकामना पूरी होती है।
  • सुबह मुख्य दरवाजे के बाहर से झाडू से सफाई करके पानी छिड़कने से घर में धन वृद्वि होती है।
  • प्रतिदिन आमदनी कलेक्शन दूसरे दिन स्वयं के खर्चे के लिए या किसी को चुकाने के लिए करें। आमदनी या कलेक्शन को कम से कम 24 घंटे के बाद ही खर्चें के लिए निकालने से धन लाभ होता है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here