सच्चाई सामने के आने के बाद कांग्रेस ने पार्टी एप गूगल प्ले स्टोर से हटाया, एप से हो रहे थे डेटा चोरी

0
380
सच्चाई सामने के आने के बाद कांग्रेस ने पार्टी एप गूगल प्ले स्टोर से हटाया, एप से हो रहे थे डेटा चोरी
Rahul-gandhi

नई दिल्ली : नमो एप के जरिए लोगों के डेटा चोरी करने का आरोप लगाने वाली कांग्रेस अब खुद इस जाल में फंसती दिखाई दे रही है। भाजपा के पलटवार के बाद कांग्रेस बैकफूट पर आ गई। कांग्रेस ने अपनी पार्टी का एप गूगल प्ले स्टोर से हटा लिया है।

भाजपा के आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने दावा किया है कि कांग्रेस पार्टी और राहुल गांधी ने जो मनगंढ़त आरोपी भाजपा के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के नमो ऐप पर लगाए थे। अब वह उस पर ही उल्टा भारी पड़ रहा है। मैंने आज ही स्क्रीनशॉट्स और पूरे तथ्यों के साथ देश के सामने रख दिया है कि कौन सा एप क्या चोरी कर रहा है।

यह भी पढ़ें : दंगल गर्ल गीता फौगाट को हरा भारत केसरी बनी दिव्या सैन

मालवीय ने कहा कांग्रेस पार्टी अपने आधिकारिक एप और वेबसाइट्स के जरिए डेटा सिंगापुर में विदेशी कंपनियो को दे रही है। बता दें कि कुछ दिन पहले ही राहुल गांधी सिंगापुर के दौरे से वापस लौटे हैं।

डेटा लीक के आरोपों पर भाजपा नेता और राज्यसभा सांसद सुब्रमण्यन स्वामी ने कहा कि भाजपा के आईटी सेल प्रमुख को इस पर प्रतिक्रिया देनी ही चाहिए। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को इस पर संज्ञान लेना चाहिए और आधारहीन आरोपों पर तथ्यों के साथ जवाब देना चाहिए।

यह भी पढ़ें : सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के 5 तरीके, आज ही आजमाएं

इससे पहले कांग्रेस पार्टी अध्यक्ष राहुल गांधी ने भाजपा के नमो एप पर सवाल खड़े किए थे। तभी से भाजपा उनको लेकर सख्त रूख अपना रही है।

डेटा लीक को लेकर कांग्रेस और भाजपा में वार-पलटवार कम होता दिखाई नहीं दे रहा है। दोनों पार्टियों की ओर से कुछ नई जानकारियों के साथ अपने आरोपों को मजबूती देने का प्रयास किया जा रहा है। प्रेस कॉन्फ्रेंस से लेकर सोशल मीडिया तक दोनों पार्टियां इस मुद्दे पर एक-दूसरे को गलत साबित करने का हर मुमकिन प्रयास कर रही है।

यह भी पढ़ें : जानिए सफल व्यक्तियों की सफलता के पीछे क्या है कारण

बता दें कि रविवार को कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने एक फ्रेंच हैकर के ट्वीट का हवाला देते हुए नरेंद्र मोदी के नमो एप से डेटा लीक किए जाने का आरोप लगाया था। अब भाजपा आईटी सेल के प्रमुख अमित मालवीय ने राहुल को उन्हीं के अंदाज में घेरा है। मालवीय ने आज एक ट्वीट किया है। जिसमें उन्होंने लिखा है कि हाय मेरा नाम राहुल गांधी है। मैं इस देश की सबसे पुरानी पार्टी का अध्यक्ष हूं। जब आप हमारे आधिकारिक एप पर लॉग इन करते हैं तो मैं आपका सभी डेटा सिंगापुर में अपने दोस्तों को दे देता हूं।

अपने इस ट्वीट के साथ अमित मालवीय ने कुछ आंकड़े भी शेयर किए है। जिसमें उन्होंने कुछ आईपी एड््रेस के साथ डेटा सिंगापुर ट््रांसफर होने का दावा किया है।

यह भी पढ़ें : सफलता पाने के लिए अपने दिमाग को इस तरह करें तैयार

इसके अलावा अमित मालवीय ने कांग्रेस की वेबसाइट के आधार पर भी कुछ आरोप लगाए है। उन्होंने कांग्रेस वेबसाइट www.inc.in के कुछ स्क्र्रीनशॉट शेयर किए है। जिसमें उन हिस्से को दिखाया गया है। जहां से ये जानकारी निजी कंपनियों को साझा की जाती है। साथ ही जानकारी सुरक्षित रखने के लिए क्या-क्या विकल्प अपनाए जाते हैं। उस जानकारी का भी स्क्रीनशॉट शेयर किया गया है।

यह भी पढ़ें : जानिए क्या है मिलेनियर्स की लाइफ चेंजिंग हैबिट्स

कांग्रेस वेबसाइट के जरिए अमित मालवीय ने जो स्क्रीनशॉट हाइलाइट किया है और उसमें लिखा है कि वेबसाइट के बेहतर इस्तेमाल के लिए कांग्रेस आपकी जानकारी कंसल्टेंट्स, वेंडर्स और दूसरे सर्विस प्रदाता या वॉलिंयटर्स को दे सकती है। जो हमारे साथ काम करते है या जिन्हें हमारे साथ काम करने के लिए आपकी जानकारी की जरूरत होती है।

मालवीय के इन आरोपों के बाद कांग्रेस पार्टी ने भी सफाई दी। कांग्रेस की सोशल मीडिया प्रमुख दिव्या स्पंदना राम्या ने कहा है कि हम कांग्रेस एप के जरिए कोई भी निजी जानकारी नहींं मांगते हैं और ये एप बहुत पहले खत्म कर दिया गया है।

कांग्रेस पर इन आरोपों के बाद लोगों ने सोशल मीडिया के जरिए कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी को खूब खरी खोटी सुनाई।

Also Read:

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें