जेल में आशाराम बापू के मुरीद हुए सलमान खान, सिगरेट और कॉफी छोड़ेंगे

0
473
Salman Khan impressed by Asaram Bapu
Salman Khan impressed by Asaram Bapu

जोधपुरः काले हिरणों के शिकार मामले में दो दिन तक जेल में बंद रहे सलमान खान आशाराम बापू के मुरीद हो गए। बापू ने जब सलमान को सिगरेट और कॉफी छोड़ने के लिए कहा तो उन्हांने सहमति जताते हुए कहा कि बापू मैं जल्द ही सिगरेट और कॉफी छोड़ दूंगा। इससे पहले बॉलीवुड स्टार सलमान खान ने आशाराम बापू के पैर छूकर उन्हें जन्मदिन की बधाई दी। सलमान ने कहा हैपी बर्थ डे बापू तो आशाराम बापू ने भी उन्हें खुश रहने का आर्शीवार्द देते हुए कहा कि जल्द ही जेल से बाहर जाओगे।

सलमान खान को जोधपुर की जिला एवं सत्र अदालत ने वर्ष 1998 के काले हिरण के शिकार मामले में शनिवार को जमानत दे दी। सलमान को इस मामले में पांच साल जेल की सजा सुनाई गई थी। सलमान खान अदालत की मंजूरी के बिना विदेश नहीं जा सकेंगे। याचिका पर अगली सुनवायी 7 मई को होगी और सलमान खान को व्यक्तिगत रूप से मौजूद रहने के निर्देश दिए गए हैं।

यह भी पढ़ें : जानिए इंटरनेट से पैसे कमाने के तरीके, घर बैठे कमाएं हर महीने लाखों रूपए

बता दें कि इससे पहले बॉलीवुड स्टार सलमान खान को 50 घंटे जोधपुर जेल की सलाखों के पीछे गुजारने पड़े। जेल की दीवारों के बीच उन्हें कोई रहनुमा मिला था तो वे थे संत आशाराम बापू। बापू ने सलमान को मोरल सपोर्ट किया। सलमान को जब जमानत मिली तो वे बापू का शुक्रिया कर बाहर आए।

सलमान खान के वकील हस्ती मल सारस्वत ने बताया कि अदालत ने सलमान खान को पचास हजार रुपये के मुचलके पर जमानत दी है। फैसले के वक्त सलमान खान की बहनें अलवीरा और अर्पिता अदालत में मौजूद रही। सलमान की जमानत याचिका मंजूर होते ही उनके प्रशंसक खुशी से झूम उठे।

गौरतलब है कि सीजेएम (ग्रामीण) ने गुरूवार को सलमान खान को कांकाणी गांव में दो हिरण का शिकार करने के जुर्म में दोषी ठहराते हुए पांच साल की कैद और दस हजार रूपये का जुर्माने की सजा सुनायी थी जबकि पांच सह आरोपियों को सन्देह का लाभ देते हुए बरी कर दिया था। बचाव पक्ष के वकील ने गुरूवार को ही सलमान खान की ओर से जमानत और सजा को निलम्बित करने की याचिका जिला एवं सत्र अदालत में पेश की थी।

यह भी पढ़ें : जिंदगी में आगे बढ़ने के लिए अपनाएं सफल लोगों की आदतें

आशाराम बापू ने खिलाया सलमान को अपना खाना

जोधपुर जेल में बंद बॉलीवुड स्टार सलमान खान ने जब जेल का खाना खाने से साफ इंकार दिया तो उन्हें भूखा देख उसी बैरक में बंद आशाराम बापू का दिल पसीज गया। उन्होंने अपना खाना सलमान खान को खिला दिया। बता दें कि संत आशाराम बापू पर छत्तीसगढ़ की एक युवती ने दुष्कर्म का आरोप लगाया। वे तभी से जोधपुर कारावास में बंद है। इस मामले में अंतिम फैसला 25 अप्रैल् को आएगा।

इतना ही नहीं जब सलमान जमीन पर बिछी दरी पर नींद नहीं आने के कारण करवट बदल रहे थे तो आशाराम बापू ने उनकी परेशानी को समझकर अपना गद्दा उन्हें ऑफर किया, लेकिन सलमान ने सोचा कि बुजुर्ग संत को दरी पर जमीन पर सोना पड़ेगा। इसलिए गद्दा लेने से मना कर दिया। यहां बता दें कि कोर्ट के आदेश से आशाराम बापू का एक समय का खाना उनके स्थानीय आश्रम से आता है।

यह भी पढ़ें : प्यासे रह जाना पर कोका कोला कभी मत पीना

क्‍या है मामला

19 साल पहले सितंबर 1998 में सलमान खान जोधपुर में सूरज बड़जात्या की फिल्म ’हम साथ साथ हैं’ की शूटिंग कर रहे थे। इसी दौरान वो फिल्म में अपने सह-कलाकार सैफ अली खान, सोनाली बेंद्रे, तब्बू और नीलम के साथ शिकार के लिए गए। आरोप है कि उन्होंने वहां संरक्षित काले हिरण का शिकार किया। शिकार की तारीख 27 सितंबर, 28 सितंबर, 01 अक्टूबर और 02 अक्टूबर बतायी गयी। साथी कलाकारों पर सलमान को शिकार के लिए उकसाने का आरोप लगा।

यह भी पढ़ें : अब मोबाइल ही आपका बैंक, इस तरह करें इसकी सुरक्षा

पिस्‍टल और राइफल बरामद

12 अक्‍टूबर 1998 को इस मामले में पहली बार सलमान खान की गिरफ्तारी हुई थी। इसके एक दिन बाद 13 अक्‍टूबर को जोधपुर के वन्‍य विभाग के दफ्तर में जांच अधिकारियों ने सलमान और गवाहों के बयान दर्ज किये। बयान दर्ज करने का पूरा सिलसिला कैमरे में रिकॉर्ड किया गया। पांच दिन जेल में रहने के बाद 17 अक्टूबर को सलमान जमानत पर जोधपुर जेल से रिहा हुए। सलमान के कमरे की भी तलाशी ली गई थी जिसमें पुलिस ने पिस्‍टल और राइफल बरामद की थी। इन हथियारों की लाइसेंस अवधि खत्म हो चुकी थीं। ऐसे सलमान पर आर्म्‍स एक्ट के तहत चौथा केस भी दर्ज हुआ।

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें