Coke के पूर्व अधिकारी का सनसनीखेज खुलासा “प्यासे रह जाना पर Coca Cola कभी मत पीना”

0
741
Never Drink Coca Cola
Coca-Cola Image Source: google.com

नई दिल्ली : जिस तरह Coca Cola की बोतल हिलाकर ढक्कन खोलने पर ज़बरदस्त झाग निकलती है उसी तरह अब Coca Cola के प्लांट से सनसनीखेज खुलासे बाहर निकल रहे हैं। Coca Cola के ब्रिटेन में काम करने वाले एक पूर्व अधिकारी ने खुलासा किया है कि स्प्राइट की दो लीटर की बोतल में ‘शुगर कंटेंट’ हमारी चीनी की रोजाना खुराक से 144 प्रतिशत ज्यादा होता है। यानी जो लोग खासकर स्प्राइट का सेवन कर रहे वो रोज़ अपने भीतर चीनी की बेतहाशा मात्रा ले रहे है जो शरीर के लिए बेहद हानिकारक है. स्प्राइट से भी ज्यादा खतरनाक Coca Cola की एनर्जी ड्रिंक है जिसे लोग अक्सर स्वास्थ्य लाभ के लिए पीते है।

यह भी पढ़ें : अब मोबाइल ही आपका बैंक, इस तरह करें इसकी सुरक्षा

गुमराह करने के लिए डाइट एक्सपर्ट्स को दी रिश्वत

ब्रिटेन में Coca Cola की बिक्री देख रहे इस अधिकारी ने बताया की अपनी सॉफ्ट ड्रिंक्स के कई खतरनाक दुष्प्रभाव छिपाने के लिए Coca Cola ने कुछ बड़े डाइट एक्सपर्ट्स को रिश्वत दी जिसके चलते उन्होंने स्प्राइट के शुगर कंटेंट पर कोई प्रतिकूल बात नही कही। इन एक्सपर्ट्स ने सार्वजनिक तौर पर लोगों को गुमराह किया और बताया की स्प्राइट या कोक पीने से मोटापा नही बढ़ता है और ये सॉफ्ट ड्रिंक सेहत के लिए किसी भी तरह हानिकारक नही है।

यह भी पढ़ें : इग्नू से पूरा करें अब अपना उच्च शिक्षा का सपना

एनर्जी ड्रिंक भी है सेहत के लिए खतरनाक

ब्रिटिश अखबार द इंडिपेंडेंट ने इस अधिकारी का हवाला देते हुए खुलासा किया है कि Coca Cola कंपनी की एनर्जी ड्रिंक ‘मॉन्स्टर’ भी सेहत के लिए ठीक नही है। कुछ लोग स्वास्थ्य लाभ के लिए इस ड्रिंक का सेवन करते हैं पर उन्हें मालूम नही होता कि मॉन्स्टर खतरे के लाल निशान जैसी है और उनकी सेहत के लिय बेहद नुकसानदेह है। इस अधिकारी के मुताबिक मॉन्स्टर के 800 लीटर के कैन में रोजाना सेवन करने के लिए तय शुगर की 47 फीसदी मात्रा होती है जो कई बीमारियों को एक तरह से न्योता है. यही नही एनर्जी ड्रिंक के इस कैन में 465 मिलीग्राम कैफीन होती है जो कॉफ़ी के डेढ़ कप और उसमे पड़ी 10 चम्मच चीनी के बराबर है। जिसे एनर्जी ड्रिंक मानकर पिया जा रहा है उसमे कैफीन की अत्यधिक मात्रा है जो किसी के लिए भी हानिकारक है।

यह भी पढ़ें : गंजेपन से छूटकारा पाने के 5 अचूक उपाय

फिलहाल इस खबर पर Coca Cola की तरफ से अभी तक कोई आधिकारिक ब्यान नही आया है. लेकिन सवाल सिर्फ कोका कोला का नही है. इस दौड़ में पेय पदार्थ बनाने वाली अन्य कम्पनिया भी वही कर रही है जो Coca Cola करती आई है।

धीमा जहर है Coca Cola

विभिन्न रिसर्च में साबित हो गया है Coca Cola सहित अन्य कोल्ड डिंक्स धीमा जहर है। इनके लगातार सेवन से मनुष्य धीरे-धीरे मौत के मुंह में समा जाता है। डॉक्टर्स भी Coca Cola जैसे डिंक्स पीने से मना करते है। यह हड्डियों को कमजोर करता है। इसके साथ इसके सेवन से कई तरह की बीमारियों का मनुष्य को सामना करना पड़ता है। कई विकसित देशों ने Coca Cola कंपनी पर पाबंदी लगा दी है। भारत में इसकी मांग अवश्य कम हुई है। लेकिन अभी भी लोग अपने स्वास्थ्य के खिलवाड़ करते हुए Coca Cola का सेवन कर रहे है। ऐसे लोग जाने-अनजाने में बहुत बड़ी गलती कर रहे है।

बच्चों को दूर रखें कोल्ड ड्रिंक्स से

लोग आज कोल्ड ड्रिंक्स को पानी की तरह पीने लगे है। खासतौर पर बच्चे इसके ज्यादा शौकिन होते है। लेकिन शायद आपको नहीं पता कि कोल्ड ड्रिंक्स के शरीर को क्या नुकसान हो सकते हैं। हाल ही में एक शोध में सामने आया है कि कोल्ड ड्रिंक्स पीने के एक घंटे बाद हमारे शरीर में क्या-क्या होता है। कोल्ड ड्रिंक्स मोटापा, ह्यद्वय रोग व डायबिटिज जैसी खतरनाक बीमारियां का कारण बनती है।

कोल्ड ड्रिंक्स पीना अपने आप में ही चीनी खाने के बराबर है। कोल्ड ड्रिंक्स के एक बड़े गिलास में लगभग दस बड़ी चम्मच चीनी होती है। आमतौर पर कोई एक साथ इतना मीठा नहीं खा सकता है। लेकिन कोल्ड ड्रिंक्स के कारण इतना सारा मीठा एक साथ हमारे शरीर में पहुंच जाता है। अब सवाल उठता है कि कोल्ड ड्रिंक्स में इतना मीठा उपयोग किया जाता है तो वो हमें मीठी क्यों नहीं लगती। इसका कारण है कोल्ड ड्रिंक्स में फोरेरिक एसिड का इस्तेमाल किया जाता है। इससे यह हमे मीठी नहीं लगती है।

कोल्ड ड्रिंक्स पीने के बाद हमारे शरीर में शुगर की मात्रा तेजी से बढ़ने लगती है। इतनी अधिक मात्रा में शुगर को हजम करने के लिए शरीर से इंसुलिन रिलीज होता है और ये सब प्रक्रिया इतनी तेजी से होती है कि हमारा लीवर समझ नहीं पाता है। हमारा लीवर शुगर को पचाने की बजाय उसे पैट में डिपॉजिट कर देता है। किसी भी व्यक्ति के शरीर में यह नियमित प्रक्रिया उसके मोटापे का कारण हो सकती है।

Also Read:

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here