Home देश CRIME बारां के छबड़ा में दुकानों, वाहनों में आगजनी के बाद तनाव, कर्फ्यू...

बारां के छबड़ा में दुकानों, वाहनों में आगजनी के बाद तनाव, कर्फ्यू लगाया, इंटरनेट बंद

बारां के छबड़ा में दुकानों, वाहनों में आगजनी के बाद तनाव, कर्फ्यू लगाया, इंटरनेट बंद

जयपुर। बारां जिले के छबड़ा कस्बे में शनिवार देर शाम हुई चाकूबाजी की घटना को लेकर रविवार को दो पक्षों में स्थिति तनावपूर्ण हो गई। बेकाबू भीड़ ने कस्बे में दुकानों, वाहनों में आगजनी करने के साथ लूटपाट की। पूरे घटनाक्रम के दौरान पुलिस भी बेबस दिखाई दी। जबकि उपद्रवी दुकानों, वाहनों में आगजनी करते रहे।

हालात बिगड़ते देख शाम 4 बजे कलेक्टर ने छबड़ा नगरपालिका क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया। साथ ही संभागीय आयुक्त ने आदेश जारी कर इंटरनेट बंद करा दिया है। प्रारंभिक सूचना के अनुसार घटनाक्रम में करीब 12 दुकानें, 2 बस, एक ट्रोला, दो बाइक, सब्जी मंडी की दुकानें व कई गुमटियों को नुकसान पहुंचा है।

जानकारी के अनुसार कस्बे में शनिवार शाम हुई चाकूबाजी की घटना को लेकर शेष आरोपियों को गिरफ्तार करने की मांग पर लोग रविवार को धरनावदा चौराहे पर एकत्रित हो गए और रैली निकालने लगे। इस दौरान भीड़ बेकाबू हो गई। कई दुकानों, बसों व वाहनों में आग लगा दी गई। इस बीच भीड़ ने आग बुझाने पहुंची छबड़ा थर्मल की फायरब्रिगेड में भी तोड़फोड़ कर दी। इस दौरान भीड़ में शामिल लोगों ने सब्जी मंडी, अलीगंज बाजार, बस स्टैंड, पुराना बाजार सहित विभिन्न स्थानों पर दुकानों, गुमटियों, व वाहनों को आग के हवाले कर दिया।

यह भी पढ़े: शादी का झांसा देकर अश्लील वीडियो बनाया | ब्लैकमेलिंग से परेशान इंजीनियरिंग की छात्रा ने मौत को गले लगाया

बेकाबू भीड़ के सामने पुलिस भी बेबस रही। भीड़ को नियंत्रित करने पहुंची पुलिस पर पथराव किया गया। इस पर पुलिस ने आंसू गैस के गोले छोड़े और लाठीचार्ज भी किया। हालात ऐसे थे कि छबड़ा के आसमान में हर तरफ आगजनी का धुंआ ही दिखाई दे रहा था। सूचना मिलते ही बारां से एसपी विनित कुमार बंसल व कलेक्टर राजेंद्र विजय ने छबड़ा पहुंचकर हालात का जायजा लिया।

एसपी बंसल ने पुलिस जाब्ते के साथ बाजार में फ्लैग मार्च भी किया। शाम करीब 4 बजे कलेक्टर राजेंद्र विजय ने हालात देखते हुए छबड़ा में कर्फ्यू लगा दिया, वहीं संभागीय आयुक्त ने भी इंटरनेट पर रोक लगा दी है। शाम को संभागीय आयुक्त कैलाशचंद मीना व आईजी रविदत्त गौड़ भी छबड़ा पहुंचे और हालात का जायजा लिया।

बाइक अड़ने की बात को लेकर हुई थी चाकूबाजी

पुलिस के अनुसार कस्बे में धरनावदा चौराहे पर शनिवार शाम नज्जीपुरा निवासी कमल सिंह गुर्जर बाइक खड़ी कर ठेले से अंगूर खरीद रहा था। इस दौरान वहां पहुंचे कुछ युवको की बाइक कमल की बाइक से टकरा गई। इसको लेकर हुई कहासुनी को लेकर युवकों ने कमल पर चाकू से हमला कर दिया। उसके बचाव में आए राकेश नागर पर भी चाकू से हमला किया गया। दोनों घायलों को छबड़ा अस्पताल में भर्ती कराया गया। घटना को लेकर छबड़ा में आक्रोश बढ़ गया। इसे लेकर लोगों ने धरनावदा चौराहे व थाने पर प्रदर्शन किया। मामले में पुलिस ने फरीद, आबिद व समीर को गिरफ्तार किया था।

यह भी पढ़े: Rajasthan: झुंझुनूं के लोहार्गल की पहाड़ियों में आदमी को जिंदा जलाया, लोग वीडियो बनाते रहे

यह है पूरा मामला

शनिवार शाम कस्बे के धरनावदा चैराहे पर फलों के ठेले पर अंगूर ले रहे अहमदपुरा निवासी कमल सिंह के साथ तीन युवकों ने मामूली कहासुनी को लेकर हमला कर दिया। उसे बचाने आए कांच की दुकानदार कोटडी निवासी राकेश नागर पर भी उन्होंने हमला कर दिया। घटना में घायल दोनों युवकों को अस्पताल में भर्ती कराया। इस बीच पुलिस ने इस मामले में फरीद, आबिद व समीर नाम के तीन युवकों को गिरफ्तार किया था।

इधर, घटना के बाद आक्रोशित लोगों ने थाने पहुंचकर आरोपियों की शीघ्र गिरफ्तारी की मांग की। साथ ही धरनावदा चैराहे पर एकत्र होकर ऐसी घटनाओं पर अंकुश लगाने की मांग की। रविवार सुबह दोनों समुदाय के लोग फिर आमने-सामने हो गए। इस दौरान भीड़ ने एक मोबाइल की दुकान में लूटपाट की। साथ ही आग बुझाने गई दमकल में भी तोड़फोड़ की गई। इस दौरान लोगों को दुकानें छोड़कर मौके से भागना पड़ा।

Exit mobile version