Business को सफल बनाने के लिए ऐसे बनें Confident Business Leader

373

Business को कामयाब बनाने के लिए जरूरी है कि आप एक सच्चे लीडर बनें। एक ऐसा Leader जो हर समय अपने एम्प्लॉइज की सहायता के लिए खड़ा रहे और उनके मुश्किल समय में उनका साथ दें। हालांकि सच्चे Leader के साथ-साथ Confident Business Leader होना भी उतना ही जरूरी है। अगर आपको खुद पर विश्वास नहीं है तो बात नहीं बनेगी। आइए जानते है कि एक Confident Business Leader कैसे बना जा सकता है…

Business का हर काम सीखें

एक Entrepreneur और Leader के तौर पर आपके लिए जंरूरी है कि आपको अपने Business का हर काम आता हो। आप किसी काम के लिए सिर्फ अपने स्टाफ के भरोसे पर न रहें। जरूरत पड़ने पर आप खुद उस काम को कर सकें। ऐसा होने से आपमें आत्मविश्वास की कभी कमी नहीं होगी।

यह भी पढ़ें : सेल्फ कॉन्फिडेंस बढ़ाने के 5 तरीके, आज ही आजमाएं

Physical Fitness पर दें ध्यान

एक लीडर के आत्मविश्वास को बढ़ाने के लिए उसकी Fitness का भी अहम रोल होता है। अगर आप Physical Fit होंगे तो आप जोश के साथ काम कर पाएंगे। साथ ही आप अपनी Fitness से अपने स्टाफ को भी प्रेरित कर पाएंगे।

काम के लिए खुद रहें पूरी तरह तैयार

यह सही है कि किसी भी काम के लिए आपको अपनी टीम को तैयार करना होता है। हालांकि इससे पहले जरूरी यह है कि आप खुद भी उस काम के लिए तैयारी कर लें। आप स्टाफ को तभी तैयार कर पाएंगे, जब आप खुद उस काम को करने के लिए पूरी तरह तैयार होंगे।

यह भी पढ़ें : SBI दे रहा है आपको हर महीने घर बैठे 50 हजार कमाने का मौका, जानिए कैसे

===========================================

फैसला लेते समय सुनें मन की आवाज

रोजमर्रा की जिंदगी में ऐसे बहुत से क्षण आते हैं, जब हमें तत्काल ही कोई फैसला करना पड़ता है। ऐसे समय में फैसले के सही या गलत होने से ज्यादा महत्वपूर्ण हो जाता है फैसले का लिया जाना। अगर आप सही समय पर फैसला नहीं कर पाते हैं तो कई अवसर खो बैठते हैं। इसमें दो तरह की संभावनाएं रहती है। एक तो यह कि सही फैसला लिए जाने पर आपका फायदा होगा और दूसरा गलत फैसला लिए जाने पर आपको एक सीख मिलेगी। अपनी जिंदगी को बेहतर ढंग से जीने के लिए फैसले लेने की कला में आपको माहिर बनना होगा। इसके लिए कुछ इस तरह प्रयास किए जा सकते है-

यह भी पढ़ें : ये संकल्प दिलाएंगे आपको बिजनेस में सफलता

गलत होना भी सही

अक्सर वे लोग फैसले नही ले पाते जो हमेशा सही होना जरूरी मानते हैं। यह बात समझ लें कि आप इंसान है ओर इंसान गलतियों से ही सीखता है। इसलिए हर फैसले में अत्यधिक सावधानी वाली अप्रोच अपनाने से बचें। यह आपको सनकी बना सकती है। जब आप गलती की संभावनाएं स्वीकार करना सीख जाएंगे, तब आप उस गलती के कारण पैदा होने वाली स्थितियों से निपटने के लिए भी खुद को तैयार कर पाएंगे।

न उलझें खुद में

बहुत से लोग फैसले को लेने से पहले उसके परिणामों व उससे जुड़ी बुरी संभावनाओं के एक-एक पहलू पर इतना सोचने लगते हैं कि वे एक चक्र में उलझकर ही रह जाते हैं। किसी भी चीज का इतना ज्यादा विश्लेषण करने पर वे एक छोटा सा फैसला भी खुद नहीं कर पाते हैं। इसके उन्हें दो नुकसान होते हैं। एक तो उनके दिमाग में द्वंद्व चलता रहता है और दूसरा उनके अपने आप में ही उलझे रहने का फायदा उनके प्रतिद्वंद्वी उठा ले जाते हैं। तमाम विकल्पों पर सोच-सोचकर अपनी उर्जा गंवा चुके ये लोग प्रतिद्वंद्वियों का छोटा सा दांव भी विफल नहीं कर पाते।

यह भी पढ़ें : कम पूंजी से शुरू करें ये 10 बिज़नेस, पाएं हर महीने लाखों रूपए कमाने का मौका

अपने मन की आवाज सुनें

कई बार व्यक्ति खुद के बारे में जरूरत से ज्यादा विचार करता है और उलझ जाता है। आपको अपने सहज ज्ञान की मदद से फैसले लेने का प्रयास करना चाहिए। बाहरी दिखावे में आकर अपने मन की आवाज को नहीं दबाना चाहिए। आपके मन से आई आवाज सच्ची आवाज होती है। उसके आधार पर आप जो भी फैसला लेते है, वह कभी गलत साबित नहीं हो सकता।

तय करें डेडलाइन

बेशक महत्वपूर्ण फैसले लेने में फायदे और नुकसान पर गौर करें, लेकिन यह बिल्कुल सही नहीं कि आप उनके विश्लेषण में फैसले लेने का सही समय ही गंवा दें। इससे बचने के लिए अपने लिए डेडलाइन तय करें। तय डेडलाइन तक फैसला जरूर ले लेना चाहिए। इसके बाद आपको अपने फैसले पर विचार नहीं करना चाहिए।

Also Read:

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a comment