Home देश बॉर्डर के पड़ाव में किसान नेता कोरोना संक्रमित मिला, सभी आंदोलनकारियों के...

बॉर्डर के पड़ाव में किसान नेता कोरोना संक्रमित मिला, सभी आंदोलनकारियों के सैंपल लिए

Farmer leader Corona infected

नई दिल्ली। केंद्र सरकार के कृषि कानूनों के विरोध में राजस्थान के शाहजहांपुर बॉर्डर पर पड़ाव डालकर बैठे आंदोलनकारियों के बीच सक्रिय किसान नेता जाट महासभा के प्रदेशाध्यक्ष राजाराम मील कोरोना पॉजिटिव पाए गए है। इस बात की खबर लगते ही पड़ाव स्थल पर बैठे आंदोलनकारियों ने हलचल सी मच गई।

स्वास्थ्य विभाग के निर्देश पर मेडिकल टीम पड़ाव स्थल पहुंची और सभी आंदोलनकारियों के सैंपल लिए। इधर भिवाड़ी एसपी राममूर्ति जोशी ने शाहजहांपुर चैक पोस्ट पर डीएसपी रेंज के अधिकारी को नियुक्त कर बिना कोरोना रिपोर्ट के पड़ाव पर नो-एंट्री के आदेश दिए है।

यह भी पढ़ें : राजस्थान के अलवर में पति-पत्नी के झगड़े में पिता ने 5 साल की मासूम को छत से नीचे फेंका

शाहजहांपुर थाना प्रभारी सुनील जांगिड, डीएसपी महावीर सिंह शेखावत, सब इंस्पेक्टर अजीत बडसरा देर शाम पड़ाव स्थल पर पहुंच चुके हैं। सब इंस्पेक्टर बड़सरा ने बताया की बाहरी प्रदेशों से राज्य की सीमा में प्रवेश करने के लिए वाहन चालकों के पास आरटीपीसीआर रिपोर्ट का होना आवश्यक है। बिना आरटीपीसीआर रिपोर्ट के किसी सी वाहन एवं उसमे सवार लोगों को राज्य की सीमा मे प्रवेश नहीं करने दिया जाएगा।

यह भी पढ़ें : शादी का झांसा देकर अश्लील वीडियो बनाया | ब्लैकमेलिंग से परेशान इंजीनियरिंग की छात्रा ने मौत को गले लगाया

बता दें कि शाहजहांपुर बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में महाराष्ट्र, गुजरात, बिहार सहित देशभर से किसान संगठनों के लोगों का आना-जाना लगा रहता है। किसान संगठनों द्वारा चलाई जा रही माटी सत्याग्रह यात्रा के साथ शाहजहांपुर बॉर्डर पर भारत के विभिन्न प्रांतों से किसान माटी से भरा कलश लेकर बॉर्डर पहुंच रहे हैं। इसी सिलसिले में 5 एवं 6 अप्रैल को भी यात्रा से जुड़ा जत्थे का बॉर्डर पर पहुंचने का कार्यक्रम है। इसके चलते पुलिस ने सख्ती शुरू कर दी है।

राकेश टिकैत की सभा में निभाई सक्रिय भूमिका

कोरोना संक्रमित पाए गए किसान नेता राजाराम मील ने राजस्थान के अलवर जिले के बानसूर व हरसौली में आयोजित राकेश टिकैत की किसान महापंचायत में सक्रिय भूमिका निभाई थी। इसी सभा में भाग लेने के दौरान किसान नेता राकेश टिकैत के मुंह पर कुछ युवाओं ने काली स्याही फेंकी थी।

Exit mobile version