‘सोनिया ने ही रची इंदिरा और राजीव गांधी की हत्या की साजिश’

0
401
Sonia conspiracy to murder rajiv and indira

नई दिल्ली : कांग्रेस की पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी ने ही पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी और राजीव गांधी की हत्या की साजिश रची थी, जिससे वह सत्ता पर काबिज हो सके। यह खुलासा सुबमणयम स्वामी ने किया। उन्होंने कहा कि अपनी मां की अवैध संतान सोनिया सीआईए की एजेंट है।

स्वामी ने दावा किया कि जिस समय सोनिया का जन्म हुआ उस समय उसके पिता जेल में थे। इस बात को छुपाने के लिए वे अपनी जन्मतिथि 1944 के बजाय 1946 बताती हैं। उन्होंने बताया कि सोनिया का असली नाम एन्टोनिया है और राजीव गांधी ने ईसाई धर्म ग्रहण कर राबटरे नाम से उससे शादी की।

यह भी पढ़ें : How to Lose Weight Fast: सिर्फ 5 मिनट में घटाएं 5 किलो वजन

सत्ता पर काबिज होने का सपना लिए भारत आई सोनिया ने तत्तकालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की हत्या का षड़यंत्र रचकर उनकी हत्या करवाई। गोली लगने के बाद इंदिरा गांधी को अस्पताल पहुंचाने में हुई देरी के पीछे थी सोनिया ही थी। जब तक इंदिरा को अस्पताल पहुंचाया गया, तब तक उनका काफी खून बह चुका था। एम्स के डॉक्टरों ने कहा-ब्राट डेड (यानी रास्ते में ही उनकी मौत) हो गई। फिर राजीव गांधी को प्रधानमंत्री पद की शपथ दिलाने के बाद इंदिरा गांधी की मृत्यु की घोषणा की गई।

राजीव गांधी को हो गया था सोनिया पर शक

स्वामी ने दावा किया कि सोनिया गांधी की इस तरह की हरकतों के कारण राजीव गांधी को सोनिया पर शक हो गया था और वे उसे छोड़ने का मन बना रहे थे। शातिर सोनिया ने इसे भाप लिया और राजीव गांधी की हत्या की योजना बना डाली। सोनिया के इशारे पर ही श्रीपेरुंबदुर की सभा में राजीव गांधी को जेड प्लस सुरक्षा नहीं की गई।

स्वामी ने बताया कि उन्हें यह जानकारी इटली निवासी एक ग्रीक परिवार और एक वरिष्ठ कांग्रेसी नेता ने मिली है, लेकिन उन्होंने उस कांग्रेसी नेता का नाम बताने से इनकार कर दिया।

यह भी पढ़ें : प्यासे रह जाना पर Coca-Cola कभी मत पीना

सवाल जो मांगते है जवाब

हर आम आदमी के मन में एक सवाल आज भी उठता रहता है कि इंदिरा गांधी और राजीव गांधी का पोस्टमार्टम आखिर क्यों नहीं करवाया गया। यह सब किसके इशारे पर हुआ। इस बात की जांच क्यों नहीं होती कि प्रधानमंत्री होने के बावजूद राजीव गांधी को उस दिन जेड प्लस सुरक्षा से दूर किसके इशारे पर रखा गया?

Also Read:

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a comment