पीएम मोदी ने लाल क़िले की प्राचीर से जनसंख्या विस्फोट पर जताई चिंता, पढ़ें- 73वें स्वतंत्रता दिवस के भाषण की 10 बड़ी बातें

0
180
पीएम मोदी ने लाल क़िले की प्राचीर से जनसंख्या विस्फोट पर जताई चिंता

नई दिल्लीः देश के 73वें स्वतंत्रता दिवस पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने लाल किले पर ध्वजारोहण किया। इस मौके पर देशवासियों को संबोधित करते हुए पीएम मोदी ने देश में जनसंख्या विस्फोट पर चिंता जताई। उन्होंने कहा कि तेजी से बढ़ती जनसंख्या आने वाली पीढ़ियों के लिए नई चुनौतियां पेश करेंगी। उन्होंने कहा कि इससे निपटने के लिए केंद्र व राज्य सरकारों को आवश्यक कदम उठाने चाहिए।

मोदी ने कहा कि समाज का एक छोटा वर्ग भी है जो अपना परिवार छोटा रखता है, वह सम्मान का हकदार है। जो वे कर रहे हैं वह भी एक प्रकार की देशभक्ति है। उन्होंने कहा कि अगर जनता शिक्षित और स्वस्थ है तो देश भी शिक्षित और स्वस्थ बनेगा।

पीएम मोदी के भाषण की 10 बड़ी बातें

  1. पीएम मोदी ने आबादी नियंत्रण के लिए छोटे परिवार पर जोर दिया और कहा कि आबादी समृद्व हो, शिक्षित हो तो देश को आगे बढ़ने से कोई नहीं रोक सकता।

2. अनुच्छेद 370 समाप्त होने के बाद जम्मू-कश्मीर ओर लद्धाख के सपनों को पंख लगें, यह हम सबकी जिम्मेदारी है।

3. चीफ ऑफ डिफेंस स्टॉफ का पद बनाया जाएगा। तीनों सेनाओं के प्रमुख का एक चीफ होगा। इससे तीनों सेनाओं को प्रभावी नेतृत्व की व्यवस्था होगी।

4. मुस्लिम महिलाओं को न्याय दिलाने के लिए तीन तलाक के खिलाफ कानून बनाया। ये निर्णय राजनीति के तराजू से तौलने के निर्णय नहीं होते हैं। बल्कि सदियों तक माताओं-बहनों के जीवन की रक्षा की गारंटी देते हैं।

5. जो काम पिछले 70 साल में नहीं हुए, वो नई सरकार बनने के बाद 70 दिन के भीतर ही हो रहे हैं। अनुच्छेद 370 और 35 ए को हटाने का प्रस्ताव संसद के दोनों सदनों ने दो तिहाई बहुमत से पास किया।

6. जीएसटी के माध्यम से हमने वन नेशन-वन टैक्स के सपने को पूरा किया। उर्जा के क्षेत्र में वन नेशन-वन ग्रिड को भी पार किया। वन नेशन-वन मोबिलिटी कार्ड की व्यवस्था को हमने विकसित किया।

7. पीएम मोदी ने कहा कि अब चर्चा एक देश एक चुनाव को लेकर है। यह देश को महान बनाने के लिए अनिवार्य है।

8. अब किसानों को 90 हजार करोड़ रूपए सीधे उनके खाते में दिए जा रहे हैं। हम मजदूर भाइयों व किसानों को पेंशन देने के लिए कदम बढ़ा रहे हैं।

9. हम सबका साथ, सबका विकास का मंत्र लेकर चले थे। लेकिन 5 साल में ही देशवासियों ने सबका विश्वास के रंग में पूरे माहौल को रंग दिया।

10. भ्रष्टाचार और कालाधन समाप्त करने के लिए उठाए गए हर कदम स्वागत योग्य है। इन समस्याओं के कारण देश को पिछले 70 साल में काफी नुकसान हुआ। हम हमेशा ईमानदारी को पुरस्कृत करेंगे।

Also Read:

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें

Leave a comment