शुक्र का 29 जून को मिथुन राशि में प्रवेश, जानें इसका क्या होगा आपकी राशि पर असर

0
196
shukra ka rashi parivartan

ज्योतिष में ग्रहों का गोचर बहुत महत्वपूर्ण होता हैं। हर ग्रह कुछ समय के अंतराल में अपना स्थान परिवर्तन करता है। इसका सीधा असर राशियों पर पड़ता है। इसी तरह शुक्र ग्रह 29 जून को वृषभ राशि से मिथुन राशि में प्रवेश कर रहे हैं। शुक्र ग्रह बहुत ही महत्वपूर्ण ग्रह माना गया है। शुक्र के प्रभाव से व्यक्ति को सारे सांसारिक भोग प्राप्त होते है। जीवन में धन, सम्पदा, ऐश्वर्य और वैवाहिक सुख की प्राप्ति होती है।

आइए जानते हैं कि शुक्र ग्रह के स्थान परिवर्तन का किस राशि पर कैसा प्रभाव पड़ेगा।

मेष (Aries Rashifal) च, चू, चे, चो, ला, ली, लू, ले, लो, आ:

मेष राशि वालों के लिये शुक्र का गोचर तीसरे भाव में हो रहा है। ऐसे में आप जीवन में नए रिश्ते की शुरुआत कर सकते हैं। इस गोचर के फलस्वरूप आपके लिये सफलता और धन लाभ का योग भी बन रहा है। आपको अपने पार्टनर से भी लाभ मिल सकता है। इस अवधि में पारिवारिक समन्वय बना रहेगा और आप परिवार के साथ कहीं घूमने में जा सकते हैं। आपको कार्य में सफलता मिलेगी और मान-सम्मान भी बढ़ेगा।

वृषभ (Taurus Rashifal) ई, ऊ, ए, ओ, वा, वी, वू, वे, वो ब बो:

शुक्र आपकी राशि से ही परिवर्तित हो रहे हैं और वे आपकी राशि से दूसरे यानी धन भाव में गोचर करेंगे। शुक्र के इस गोचर के परिणामस्वरुप आपका जीवन और बेहतर बन सकता है और इस दौरान आपको धन लाभ भी होंगे। आप नए आइडियाज के जरिए भी धन प्राप्ति का प्रयास करेंगे। वाणी की मधुरता से आप दूसरों को प्रभावित करने में सक्षम साबित होंगे। पारिवारिक स्तर पर भी यह अवधि बेहतर साबित होगी, लेकिन जीवनसाथी के स्वास्थ्य को लेकर आपको थोड़ी चिंता हो सकती है। कार्यस्थल पर स्थिति सामान्य बनी रहेगी।

यह भी पढ़ें : Weight Loss: Best Fruits And Vegetables To Burn Belly Fat

मिथुन (Gemini Rashifal) का, की, कू, घ, ङ, छ, के, को, ह:

चूंकि शुक्र का गोचर आपकी ही राशि के लग्न भाव में हो रहा है, जो आर्थिक दृष्टि से आपके लिए बेहतर साबित होने जा रहा है। कार्यक्षेत्र में भी आपका प्रदर्शन बेहतर रहेगा। आने वाले समय में आपको इसका फायदा भी मिलेगा। इस अवधि में आपको मानसिक शांति की अनुभूति होगी। प्रेम संबंधों के लिहाज से भी यह अवधि बेहतर साबित होगी। पार्टनर्स के बीच रोमांस बढ़ेगा। अविवाहितों को उपयुक्त साथी मिल सकता है।

कर्क (Cancer Rashifal) ही, हू, हे, हो, डा, डी, डू, डे, डो:

शुक्र का गोचर आपकी राशि से 12वें भाव में हो रहा है, जो आपकी भौतिक सुख-सुविधाओं में इजाफा तो करेगा, लेकिन इस अवधि में आपके खर्चों में भी काफी बढ़ोतरी होगी। व्यापारिक यात्रा से आपको लाभ हो सकता है। पारिवारिक माहौल बेहतर रहेगा साथ ही विवाहितों के लिए भी यह अवधि बेहतर साबित होगी। दांपत्यजीवन सुखमय रहेगा। इस अवधि में कार्य परिवर्तन के भी योग हैं, ऐसे में सोच-समझकर निर्णय लेना आपके लिए बेहतर साबित होगा। इस अवधि में किसी नए बिजनेस की भी शुरूआत हो सकती है।

सिंह (Leo Rashifal) मा, मी, मू, मे, मो, टा, टी, टू, टे:

सिंह राशि वालों के लिये शुक्र का परिवर्तन ग्यारहवें यानी लाभ स्थान में हो रहा है। ऐसे में इस अवधि के दौरान आपको कार्यों में सफलता मिलेगी। इस अवधि में आपके सभी प्रयास सफल होंगे। आपको पारिवारिक सहयोग भी मिलेगा। प्रेम संबंध और दांपत्य जीवन बेहतर रहेगा और आप ज्यादा रोमांटिक होंगे। खर्चों में कमी होगी और आप बचत करने को भी प्रेरित हो सकते हैं, लेकिन आर्थिक तौर पर आपको थोड़ी परेशानी उठानी पड़ सकती है। आपका स्वास्थ्य सामान्य बना रहेगा।

यह भी पढ़ें : Health Tips For Summer Season in Hindi गर्मी से बचने के लिए अपनाइए ये कूल टिप्स

कन्या (Virgo Rashifal) ढो, पा, पी, पू, ष, ण, ठ, पे, पो:

आपकी राशि से 10 वें भाव में शुक्र का आना आपके लिए अनुकूल साबित होगा। वैसे इस अवधि में आपको कार्यक्षेत्र में चाहे नौकरी में परिवर्तन की बात हो या स्थानांतरण की बात हो, कई बदलाव देखने को मिल सकते हैं। धन प्राप्ति के अवसर भी मिलेंगे। पारिवारिक वातावरण सौहार्द्रपूर्ण रहेगा। प्रेम संबंध और दांपत्य जीवन में मधुरता बनी रहेगी। किसी महिला मित्र से आपको आर्थिक मदद मिलेगी। हालांकि आपको कार्यक्षेत्र में सक्रियता दिखानी होगी।

तुला (Libra Rashifal) रा, री, रू, रे, रो, ता, ती, तू, ते:

आपकी राशि से 9 वें भाव में शुक्र का आना आपके लिए सुखद संकेत है। भाग्य स्थान में शुक्र के आने का मतलब यह नहीं कि आप सब कुछ छोड़ भाग्य के भरोसे बैठ जाएं, क्योंकि सफलता के लिए आपको कड़ी मेहनत करने की जरुरत होगी। वैसे इस अवधि में आपको कार्यक्षेत्र में सफलता मिल सकती है। आपको पारिवारिक सहयोग मिलेगा। प्रेम संबंधों में अनुकूलता रहेगी और साथी से संबंध मधुर रहेंगे। वैसे इस अवधि में आपका स्वास्थ्य बेहतर रहेगा, लेकिन पिता के स्वास्थ्य को लेकर चिंता रहेगी।

वृश्चिक (Scorpio Rashifal) तो, ना, नी, नू, ने, नो, या, यी, यू:

शुक्र का आठवें भाव में आना वृश्चिक राशि वालों के लिये परेशानी का कारण बन सकता है। खासकर शुक्र के इस गोचर के प्रभाव से दांपत्य जीवन और प्रेम संबंधों में उतार-चढ़ाव देखने को मिल सकता है। दांपत्य जीवन में परेशानी उत्पन्न हो सकती है। इस अवधि में जीवनसाथी के साथ वाद-विवाद की स्थिति उत्पन्न हो सकती है या उनके स्वास्थ्य को लेकर आपको चिंता हो सकती है। कार्यक्षेत्र में भी बाधाएं उत्पन्न हो सकती हैं। आर्थिक नुकसान भी हो सकता है। इस अवधि में आपको स्वास्थ्य के प्रति भी सतर्क रहने की जरुरत है।

धनु (Sagittarius Rashifal) ये, यो, भा, भी, भू, धा, फा, ढा, भे :

शुक्र का गोचर धनु राशि वाले जातकों के लिए सुखद साबित होगा। आपको जीवनसाथी का सहयोग मिलेगा और दांपत्य जीवन भी खुशहाल बना रहेगा। आपके सामाजिक जीवन में विस्तार होगा और लोगों के साथ संपर्क भी बढ़ेंगे। इस अवधि में आपके व्यापार में वृद्धि के साथ ही लाभ भी होगा। हालांकि आपको इस अवधि में अपने स्वास्थ्य पर ध्यान देने की जरुरत है।

यह भी पढ़ें : Weight Loss: Best Fruits And Vegetables To Burn Belly Fat

मकर (Capricorn Rashifal) भो, जा, जी, खी, खू, खे, खो, गा, गी:

शुक्र का आपकी राशि से छठे घर में प्रवेश करना आपके लिए परेशानी भरा साबित हो सकता है। गोचरकाल में जुआ और सट्टेबाजी में शामिल लोगों को भले ही लाभ मिलता प्रतीत हो, लेकिन बाद में इससे उन्हें नुकसान होगा। वैसे इस अवधि में आपके खर्चों में भी बढ़ोतरी हो सकती है। शत्रु भी आपपर हावी हो सकते हैं। इस अवधि में आप बच्चों के भविष्य को लेकर चिंतित हे सकते हैं साथ ही उनके साथ कोई वैचारिक मतभेद भी हो सकता है। बेहतरी के लिए अपने काम पर ध्यान देना उपयुक्त होगा।

कुंभ (Aquarius Rashifal) गू, गे, गो, सा, सी, सू, से, सो, दा:

कुंभ राशि वालों के लिये शुक्र का पांचवे भाव में आना आपके लिए लाभदायी होगा। इस दौरान आपको कार्यक्षेत्र में लाभ होगा। कार्यक्षेत्र में बदलाव भी हो सकता है, लेकिन कोई भी निर्णय सोच समझ कर लें। आपकी आय में बढ़ोतरी होगी। इस अवधि में प्रेम संबंधों और दांपत्य जीवन में रिश्ते मजबूत होंगे। प्रेम संबंधों में शामिल अविवाहितों के लिए वैवाहिक बंधन में बंधने के संकेत मिल रहे हैं। विद्यार्थियों के लिए भी यह अवधि बेहतर साबित होने जा रही है।

मीन (Pisces Rashifal) दी, दू, थ, झ, ञ, दे, दो, चा, ची:

शुक्र का गोचर मीन राशि वाले जातकों के लिए चौथे यानी सुख के भाव में हो रहा है। इस अवधि में आपको कई तरह के लाभ मिल सकते हैं, लेकिन माता के स्वास्थ्य को लेकर आपको चिंता बनी रहेगी। उनके स्वास्थ्य का ध्यान रखें। कार्यस्थल पर आपका प्रदर्शन बेहतर रहेगा और आपको सफलता भी मिलेगी। वैसे इस अवधि में आपको दोस्तों का सहयोग मिलेगा। पारिवारिक माहौल बेहतर रहेगा। वैसे इस अवधि में यात्रा को टालना ही आपके लिए बेहतर रहेगा। (इनपुट गणेशास्पीक्स)

शुक्र का 29 जून को मिथुन राशि में प्रवेश, जानें इसका क्या होगा आपकी राशि पर असर

Also Read:

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज और ट्विटर प्लस पर फॉलो करें

Leave a comment