Ram Currency : इस देश में चलती है भगवान राम के नाम की करेंसी

    - Advertisement -

    Ram Currency : हिन्दू धर्म में जन-जन की आस्था के केंद्र भगवान राम ( Load Ram) के ऐतिहासिक मंदिर (Temple) का निर्माण अयोध्या में तेजी से हो रहा है। देश के सभी लोग जनभागीदारी से इस मंदिर के निर्माण में सहयोग कर रहे है। राम मंदिर के निर्माण से हर देशवासी उल्लासित है। लेकिन आपको जानकार आश्चर्य होगा कि विश्व में एक देश ऐसा भी जहां भगवान राम के नाम की करेंसी चलती है।

    इस देश में भगवान राम को बड़े आदर व सम्मान से देखा जाता है। राम नाम की यह करेंसी विश्व के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका सहित 35 देशों में मान्य है। भगवान राम के नोट की वजनदारी इस बात से समझी जा सकती है कि वहां एक राम नोट के बदले 10 यूरो यानी 950 रुपए का भुगतान किया जाता है।

    यह भी पढ़ें : Crassula : ये पौधा चुम्बक की तरह खींच लाएगा आपके घर में है पैसा

    किस देश में चलती है भगवान Ram के नाम की करेंसी

    यूरोपीय देश नीदरलैंड ऐसा देश है। जहां के लोगों को भगवान राम में पूरी आस्था, विश्वास और उनके प्रति सम्मान है। इस सम्मान को व्यक्त करते हुए इस देश में वर्ष 2002 में राम नाम की करेंसी जारी की गई। इस करेंसी का उपयोग तीसरी दुनिया के देशों में विकास और गरीबी मिटाने के लिए किया जाता है।

    कैसी है भगवान राम के नाम की करेंसी

    बेहद आकर्षक इस Ram नाम की करेंसी में भगवान राम की फोटो के साथ कामधेनु और कल्पवक्ष की फोटो भी दिखाई देती है। आपको जानकार आर्श्चय और खुशी होगी कि विश्व के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका सहित 35 देशों में इस करेंसी का इस्तेमाल किया जाता है।

    कितनी है राम करेंसी की कीमत

    नीदरलैंड सहित दुनियाभर के कई देशों में राम करेंसी को मान्यता प्राप्त है। एक राम करेंसी का मूल्य 10 यूरो है। इस तरह के राम करेंसी के एक, पांच और दस के नोट चलन में है। पांच राम करेंसी की कीमत 50 यूरो तथा दस राम करेंसी की कीमत 100 यूरो के बराबर आंकी गई।

    यह भी पढ़ें : Success Mantra: सफलता के ये 10 कदम चलिए, हर काम में मिलेगी सफलता

    कैसे शुरू हुई राम करेंसी

    महर्षि महेश योगी ने आज से करीब बीस साल पहले “राम” नाम से करेंसी चलाई थी। साथ ही उन्होंने 1, 5 और 10 ‘राम’ का नोट भी शेयर किया, जिस पर भगवान राम की तस्वीर बनी हुई है और साथ हुई ‘विश्व शांति राष्ट्र’ अंकित किया हुआ है। इस पर ‘नीदरलैंड’ भी लिखा हुआ है।

    इसे अक्टूबर 2001 में ‘द ग्लोबल कंट्री ऑफ वर्ल्ड पीस’ द्वारा लॉन्च किया गया था। कई शहरों और गाँवों सहित बड़े मॉल्स में भी इस करेंसी को स्वीकार किया जाता है। राम करेंसी को ‘वर्ल्ड पीस बॉन्ड’ के नाम से भी जाना जाता है। महर्षि मूवमेंट का कहना है कि इससे विश्व शांति को मजबूती मिलेगी, अर्थव्यवस्था में संतुलन बनेगा और साथ ही गरीबी से लड़ाई में ये कारगर सिद्ध होगा।

    Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज और ट्विटर पर फॉलो करें

    इस खबर काे शेयर करें

    - Advertisement -
    News Posthttps://www.newspost.in
    हिन्दी समाचार, News in Hindi, हिन्दी न्यूज़, ताजा समाचार, राशिफल, News Trend. हिन्दी समाचार, Latest News in Hindi, न्यूज़, Samachar in Hindi, News Trend, Hindi News, Trend News, trending news, Political News, आज का राशिफल, Aaj Ka Rashifal, News Today

    Latest news

    - Advertisement -

    Related news

    - Advertisement -

    LEAVE A REPLY

    Please enter your comment!
    Please enter your name here

    ollhmtn05epenfp1yuply4cg5bx3sd