5 मंगलवार करें ये उपाय, मिल जाएगी सभी संकटों से मुक्ति

257
5 मंगलवार करें ये उपाय, मिल जाएगी सभी संकटों से मुक्ति

संकटमोचन हनुमान की महिमा को कौन नहीं जानता। इस संसार में ऐसा कोई कार्य नहीं है, जो बजरंगबली हनुमानजी के भक्तों के असंभव है। बल और बुद्वि के दाता हनुमानजी की आराधना यदि नियम पूर्वक की जाएं तो उसका फल की उत्तम ही होता है।

मंगलवार को हनुमानजी की पूजा का सबसे उत्तम दिन माना गया है। जीवन में यदि किसी प्रकार का कोई संकट है तो वह व्यक्ति 5 मंगलवार को हनुमानजी को चोला चढ़ाएं और हनुमान चालीसा का पाठ करें, तो उसके सब संकट का निवारण हो जाता है।

मंगलमूर्ति हनुमान की पूजा करने से कई तरह की विपत्तियों से आसानी से छुटकारा मिल जाता है। शास्‍त्रों के अनुसार अगर शनिवार और मंगलवार को कुछ छोटे-छोटे उपाय और पूजा विधि की जाए तो घर परिवार और पैसों से जुड़ी समस्‍याओं से निजात पाया जा सकता है। आइए जानें ऐसे ही कुछ उपायों के बारे में, जो आपकी मदद कर सकते है…

यह भी पढ़ें : SBI दे रहा है आपको हर महीने घर बैठे 50 हजार कमाने का मौका, जानिए कैसे

हनुमान चालीसा का पाठ

हनुमान चालीसा का पाठ नियम से करना शुरू कर दें। हनुमान चालीसा करने के लिए एक निश्चित समय और निश्चित स्थान हो तो अच्छा है। पवित्र भावना और शांतिपूर्वक हनुमान चालीसा पढ़ने से हनुमानजी की कृपा प्राप्त होती है। हनुमान चालीसा पढ़ने के बाद हनुमानजी की कपूर से आरती करें।

सुंदरकांड का पाठ

मंगलवार व शनिवार को किसी हनुमान मंदिर में जाकर सुंदरकांड का पाठ किया जा सकता है। सुंदरकांड का पाठ करने से हनुमानजी के साथ-साथ शनिदेव की कृपा भी प्राप्त होगी। यदि किसी जातक पर शनि की दशा चल रही है तो उसे सुंदरकांड का पाठ अवश्य करना चाहिए। शनिदेव को हनुमानजी ने रावण के चंगुल से मुक्त करवाया था। तब शनिदेव ने वचन दिया था कि हनुमानजी के भक्तों को शनिदेव कभी परेशान नहीं करेंगे।

यह भी पढ़ें : कम पूंजी से शुरू करें ये 10 बिज़नेस, पाएं हर महीने लाखों रूपए कमाने का मौका

हनुमानजी को चढ़ाएं चोला

यदि किसी जातक के जीवन में कोई परेशानी लंबे समय से चली आ रही है। या ऐसा कह सकते है कि बार-बार वह समस्या उठ खड़ी होती है तो उस जातक को 5 मंगलवार नियमपूर्वक हनुमानजी को चोला चढ़ाना चाहिए, इससे उसे उस समस्या से मुक्ति मिल जाएगी।

नारियल का उतारा

पानीदार एक नारियल लें और उसे अपने ऊपर से 21 बार वारें. वारने के बाद उसे किसी देवस्थान पर जाकर अग्नि में जला दें। ऐसा परिवार के जिस सदस्य पर संकट हो उसके ऊपर से वारें। यह उपाय किसी मंगलवार या शनिवार को करना चाहिए। 5 शनिवार ऐसा करने से जीवन में अचानक आए कष्ट से छुटकारा मिलेगा।

मांगलिक दोष का निवारण

यदि किसी जातक पर मांगलिक दोष है तो उसे नियमपूर्वक हनुमानजी की आराधना और मंगलवार का व्रत करना चाहिए। मांगलिक दोष वाले युवक-युवतियों को वैवाहिक समस्याओं से गुजरना पड़ता है। ऐसे युवक-युवतियों की शादी में देरी से मां-पिता को अक्सर चिन्ताग्रस्त होते देखा गया है। हनुमानजी की कृपा से मांगलिक दोष का निवारण हो जाता है।

यह भी पढ़ें : कम पूंजी से शुरू करें ये 10 बिज़नेस, पाएं हर महीने लाखों रूपए कमाने का मौका

दान-पुण्य का ले आसरा

वृक्ष, चींटी, पक्षी, गाय, कुत्ता, कौवा, अशक्त मानव आदि प्राणियों के अन्न-जल की व्यवस्था करने से इनकी हर तरह से दुआ मिलती है। इसे वेदों के पंचयज्ञ में से एक वैश्वदेव यज्ञ कर्म कहा गया है।

मछलियों को आटे की गोलियां खिलाएंः कागजों पर छोटे अक्षरों में राम-राम लिखें। अधिक से अधिक संख्या में ये नाम लिखकर सबको अलग-अलग काट लें। अब आटे की छोटी-छोटी गोलियां बनाकर एक-एक कागज उनमें लपेट लें और नदी या तालाब पर जाकर मछलियों और कछुओं को ये गोलियां खिलाएं। इससे जीवन में सुख-समृद्वि व वैभव आता है।

तुलसी में जल चढ़ाएं

एक तांबे के लोटे में जल लें और उसमें थोड़ा-सा लाल चंदन मिला दें। उस पात्र को अपने सिरहाने रखकर रात को सो जाएं। प्रातः उठकर सबसे पहले उस जल को तुलसी के पौधे में चढ़ा दें। ऐसा कुछ दिनों में सारी परेशानी दूर होती जाएगी।

यह भी पढ़ें : किस वार को हुआ है आपका जन्म? जानिए अपना व्यक्तित्व

छाया दान करें

शनिवार को एक कांसे की कटोरी में सरसों का तेल और सिक्का (रुपया-पैसा) डालकर उसमें अपनी परछाई देखें और किसी शनि मंदिर में शनिवार के दिन कटोरी सहित तेल रखकर आ जाएं। यह उपाय आप कम से कम पांच शनिवार करेंगे तो आपकी शनि की पीड़ा शांत हो जाएगी और शनिदेव की कृपा शुरू हो जाएगी।

राम नाम का करें जप

सभी तरह के बुरे काम छोड़कर प्रतिदिन राम के नाम, गायत्री मंत्र या महामृत्युंजय मंत्र का जाप शुरू कर दें। ध्यान रहे इसमें से किसी एक मंत्र का जाप ही करें। कम से कम 43 दिनों तक लगातार इसका जाप सुबह और शाम नियम से करें।

यह भी पढ़ें : View Ads and Earn Money Online in India

घर में धूप दें

हिंदू धर्म में धूप देने और दीप जलाने का बहुत ज्यादा महत्व है। सामान्य तौर पर धूप दो तरह से ही दी जाती है। पहला गूगल धूप करने से घर में सभी तरह के बुरी शक्तियां का नाश हो जाता है। दूसरा गाय के कंडे पर घी डालकर धूप करना इससे घर का वातावरण आध्यात्मिक व शांतिमय बनता है।

रामायण का पाठ

घर में सुख-शांति और समृद्वि की चाह रखने वाले व्यक्ति को अपने घर में तीन-चार महीने में एक बार रामायण पाठ का आयोजन करवाते रहना चाहिए। घर में यदि संभव नहीं हो तो नजदीकी किसी मंदिर में भी रामायण पाठ करवाया जा सकता है। इससे रामभक्त हनुमानजी की कृपा सहज में प्राप्त होगी। ऐसा करवाने वाले व्यक्ति के घर में खुशहाली आती है।

Also Read:

Latest Hindi News से जुड़े, अन्य अपडेट के लिए हमें फेसबुक पेज, ट्विटर और गूगल प्लस पर फॉलो करें